Wed. Oct 5th, 2022

Hindi Grammar

इस पोस्ट में, हमने कुछ ऐसे शब्दों के समूहों को प्रस्तुत किया है जिनका उच्चारण आपस में बहुत मिलता-जुलता है परन्तु उनका अर्थ भिन्न होता... Read More
हिंदी भाषा में बहुत से ऐसे शब्द होते हैं जो कि किसी भी वस्तु या अनुभव का गुण बताते हैं और इस लिए हम उन्हें... Read More
हिंदी भाषा में बहुत से ऐसे शब्द होते हैं जो कि किसी भी वस्तु या अनुभव का गुण बताते हैं और इस लिए हम उन्हें... Read More
हिंदी भाषा में बहुत से ऐसे शब्द होते हैं जो कि किसी भी वस्तु या अनुभव का गुण बताते हैं और इस लिए हम उन्हें... Read More
हिंदी भाषा में बहुत से ऐसे शब्द होते हैं जो कि किसी भी वस्तु या अनुभव का गुण बताते हैं और इस लिए हम उन्हें... Read More
हिंदी भाषा में काल और अंग्रेज़ी भाषा में टैंस बोलते हैं यदि हम किसी भी वाक्य में क्रिया के समय के बोध की बात करें... Read More
हिंदी भाषा में कुछ अव्यय ऐसे हैं जिन से हम भाववाचक संज्ञा का निर्माण कर सकते हैं। ऐसे कुछ उदाहरण नीचे तालिका में दिये गये... Read More
हिंदी भाषा में क्रिया पदों को बदल कर भी भाववाचक संज्ञा बनाई जा सकती है। इसके कुछ उदाहरण नीचे तालिका में दिये गये हैं। यदि... Read More
हिंदी भाषा में बहुत से विशेषण शब्द ऐसे हैं जिनसे भाववाचक संज्ञा बनाई जा सकती है। इसके कुछ उदाहरण नीचे दिये गये हैं। यदि आपको... Read More
सर्वनाम से भी हिंदी भाषा में भाववाचक संज्ञा बनाई जा सकती है। उसके कुछ उदाहरण नीचे दिये गये हैं। यदि आप ऐसे ही किसी सर्वनाम... Read More
हिंदी भाषा में जातिवाचक संज्ञा को भाववाचक संज्ञा के रूप में बदलकर प्रयोग किया जा सकता है। बहुत से ऐसे शब्द आपको मिलेंगे जिनका जातिवाचक... Read More
जिस समास में पूर्व पद अव्यय हो (जैसे कि प्रति, यथा, आ, अनु, भर, बे, आदि) उसे अव्ययीभाव समास कहते हैं। दूसरे समासों की तुलना... Read More
द्वंद्व समास उस समास को कहते हैं जिसमें पूर्व व उत्तर पद दोनों ही प्रधान होते हैं। द्वंद्व समास को जोड़ा या युग्म समास भी... Read More
बहुव्रीहि समास वो पद होता है जिसमें पूर्व तथा उत्तर पद दोनों ही गौण होते हैं। ये दोनों पद मिलकर जिस तीसरे पद की ओर... Read More
द्विगु समास उस समस्त पद को कहते हैं जिसमें उत्तर पद प्रधान होता है परन्तु पूर्व पद संख्यावाचक विशेषण होता है। अधिकतम रूप में द्विगु... Read More
If you have any questions, comments or feedback, please write to us through the comment section. कर्मधारय समास में पूर्व पद विशेषण तथा उत्तर पद... Read More
तत्पुरुष समास में पूर्व पद गौण तथा उत्तर पद प्रधान होता है। जब दो पदों को जोड़कर तत्पुरुष समास बनाया जाता है तो समस्तपद में... Read More